عن عبد الله بن عمرو بن العاص -رضي الله عنهما- مرفوعاً: «الدنيا متاع، وخير متاعها المرأة الصالحة».
[صحيح] - [رواه مسلم]
المزيــد ...

अब्दुल्लाह बिन अम्र बिन आस (रज़ियल्लाहु अन्हुमा) से वर्णित है नबी (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने फ़रमाया : "दुनिया एक क्षणिक उपभोग की वस्तु है और उसकी सर्वश्रेठ वस्तु नेक स्त्री है।"
सह़ीह़ - इसे मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

दुनिया और उसमें जो कुछ भी है, दरअसल क्षणिक उपभोग की वस्तु है, जिसके बाद उसे ख़त्म हो जाना है। लेकिन इस नाशवान दुनिया की सबसे उत्तम वस्तु नेक स्त्री है, जो आख़िरत को सँवारने में सहयोग करती है। इस स्त्री के गुणों का बखान करते हुए अल्लाह के रसूल -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- ने कहा है : "जब उसका पति उसकी ओर देखे तो उसे प्रसन्न कर दे, जब उसे आदेश दे तो उसका पालन करे और जब उसे छो़डकर कहीं जाए तो वह अपने नफ़्स तथा अपने पति के धन की रक्षा करे।"

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग वियतनामी सिंहली कुर्दिश होसा पुर्तगाली मलयालम तिलगू सवाहिली तमिल बर्मी थाई
अनुवादों को प्रदर्शित करें

फ़ायदे

  1. दुनिया की पवित्र चीज़ों से जिन्हें अल्लाह ने अपने बंदों के लिए हलाल किया है, लाभान्वित होना जायज़ है। बस शर्त यह है कि फ़ज़ूलखर्ची और अभिमान न हो।
  2. नेक स्त्री के चयन की प्रेरणा, क्योंकि वह अल्लाह के आज्ञापालन में अपने पति की सहायता करती है।
  3. दुनिया का सबसे अच्छा सामान वह है, जो अल्लाह के आज्ञापालन में काम आए या उसमें सहयोग करे।
अधिक