عن عبد الله بن عمرو -رضي الله عنهما- يبلغ به النبي -صلى الله عليه وسلم-: «الرَّاحمون يرحَمُهمُ الرحمنُ، ارحموا أهلَ الأرضِ، يرحمْكم مَن في السماءِ».
[صحيح.] - [رواه أبو داود والترمذي وأحمد.]
المزيــد ...

अब्दुल्लाह बिन अम्र बिन आस (रज़ियल्लाहु अन्हुमा) नबी (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) से रिवायत करते हैं कि आपने फ़रमाया : “दया करने वालों पर रहमान दया करता है। धरती वालों पर दया करो, आकाश वाला तुमपर दया करेगा।”
सह़ीह़ - इसे तिर्मिज़ी ने रिवायत किया है।

व्याख्या

"दया करने वाले" अर्थात जो धरती वालों पर, चाहे वह इनसान हों कि जानवर, मेहरबानी, उपकार एवं सांत्वना के साथ दया करते हैं, "अति दयावान उनपर दया करता है"। इसी प्रकार उनका उपकार करता और उनपर मेहरबानी फ़रमाता है। क्योंकि इनसान जिस प्रकार का काम करता है, उसे बदला भी उसी प्रकार का दिया जाता है। "तुम धरती वालों पर दया करो" यहाँ "धरती वालों" का व्यापक शब्द लाया गया है, ताकि सारी सृष्टियाँ उसके दायरे में आ जाएँ और इनसान नेक तथा बद एवं पशुओं तथा पक्षियों सब पर दया करे। "आकाश वाला तुमपर दया करेगा" यानी अल्लाह, जो आकाश में है, तुमपर दया करेगा। इस वाक्य का यह अर्थ बयान करना कि तुमपर वह दया करेगा जिसका राज्य आकाश तक फैला हुआ है, उचित नहीं है। क्योंकि अल्लाह का अपनी सृष्टि से ऊँचाई पर होना क़ुरआन, सुन्नत एवं उम्मत के मतैक्य से साबित है। लेकिन हमारे कथन "अल्लाह आकाश में है" का अर्थ यह नहीं है कि आकाश उसे अपने अंदर समाहित किए हुए है और अल्लाह उसके अंदर दाखिल है। बल्कि इसका मतलब यह है कि अल्लाह अपनी सारी सृष्टि से ऊँचाई पर आकाश के ऊपर है।

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग उइग़ुर कुर्दिश होसा पुर्तगाली मलयालम तिलगू
अनुवादों को प्रदर्शित करें
1: दया क़ुरआन एवं सुन्नत के अनुसरण की क़ैद के साथ मुक़य्यद है। अतः शरई दंड क़ायम करना और अल्लाह की हुरमत को पामाल करने की सज़ा देना दया के विपरीत नहीं है।
2: अल्लाह अपनी सारी सृष्टि से ऊपर आकाश में है।
3: उच्च एवं महान अल्लाह के लिए रहमत के विशेषता को साबित करना।