عن أبي طلحة -رضي الله عنه-: أن رسول الله -صلى الله عليه وسلم- قال: «لا تدخل الملائكة بَيْتَا فيه كلب ولا صُورة». عن ابن عمر -رضي الله عنهما-، قال: وعد رسول الله -صلى الله عليه وسلم- جبريل أن يَأتِيَهُ، فَرَاثَ عليه حتى اشْتَدَّ على رسول الله -صلى الله عليه وسلم- فخرج فَلَقِيَهُ جبريل فَشَكَا إليه، فقال: إنا لا نَدْخُل بَيْتَا فيه كلب ولا صُورة. عن عائشة -رضي الله عنها-، قالت: واعد رسول الله -صلى الله عليه وسلم- جبريل عليه السلام، في ساعة أن يأتيه، فجاءت تلك الساعة ولم يَأتِهِ! قالت: وكان بِيَدِه عصا، فَطَرَحَها من يَدِهِ وهو يقول: «ما يُخْلِفُ الله وَعْدَهُ ولا رُسُلُهُ» ثم التَفَتَ، فإذا جَرْوُ كلب تحت سريره. فقال: «متى دخل هذا الكلب؟» فقلت: والله ما دَرَيْتُ به، فأمر به فأخرج، فجاءه جبريل -عليه السلام- فقال رسول الله -صلى الله عليه وسلم-: «وعَدْتَنِي، فَجَلَسْتُ لك ولم تَأتِني» فقال: مَنَعَنِي الكلب الذي كان في بيتك، إنا لا نَدْخُل بَيْتَا فيه كلب ولا صورة.
[صحيح.] - [حديث أبي طلحة متفق عليه. حديث ابن عمر رواه البخاري. حديث عائشة رواه مسلم.]
المزيــد ...

अबू तल्हा (रज़ियल्लाहु अनहु) से वर्णित है कि अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने फ़रमाया: फ़रिश्ते उस घर में प्रवेश नहीं करते जिस घर में कुत्ते और चित्र होते हैं। अब्दुल्लाह बिन उमर (रज़ियल्लाहु अनहुमा) कहते हैं कि अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) से जिब्रील (अलैहिस्सलाम) ने आकर मिलने का वादा किया, परन्तु जिब्रील लेट हो गए, यहाँ तक कि अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) परेशान होने लगे तो बाहर निकले, जैसे ही निकले जिब्रील से भेंट हुई, तो इसकी शिकायत की। इस पर उन्होंने कहा: हम उस घर में प्रवेश नहीं करते जिस घर में कुत्ते और चित्र होते हैं। आइशा (रज़ियल्लाहु अनहा) कहती हैं कि अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) से जिब्रील ने किसी समय आकर मिलने का वादा किया। फिर ऐसा हुआ कि वह समय आ गया लेकिन जिब्रील नहीं आए। कहती हैं कि आप के हाथ में एक लाठी थी, उसे हाथ से फेंकते हुए फ़रमाया: अल्लाह और उसके संदेष्टागण वचन भंग नहीं करते। फिर देखा कि कुत्ते का बच्चा चारपाई के नीचे मरा पड़ा है, तो फ़रमाया: यह कुत्ता कब घुसा है? मैंने कहा: अल्लाह की क़सम! मुझे मालूम नहीं। फिर उसे निकालने का आदेश दिया, तो जिब्रील आए। अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने फ़रमाया: तुमने मेरे साथ वादा किया था, मैं बैठा रहा और तुम नहीं आए। इस पर जिब्रील ने कहा: आपके घर में कुत्ते की उपस्थिति ने मुझे प्रवेश करने से रोक दिया, क्योंकि हम उस घर में प्रवेश नहीं करते, जिस घर में कुत्ते और चित्र होते हैं।
सह़ीह़ - इसे बुख़ारी ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग उइग़ुर कुर्दिश पुर्तगाली
अनुवादों को प्रदर्शित करें