عن أبي سعيد -رضي الله عنه- قال: كان النبي -صلى الله عليه وسلم- يقول: «إذا وُضِعت الجَنَازَة واحْتَمَلَهَا الناس أو الرجال على أَعْنَاقِهِم، فإن كانت صالحة، قالت: قَدِّمُونِي قَدِّمُونِي، وإن كانت غير صالحة، قالت: يا وَيْلها! أين تَذهبون بها؟ يسمعُ صوتها كل شيء إلا الإنسان، ولو سَمِعَه صَعِق».
[صحيح.] - [رواه البخاري.]
المزيــد ...

अबू सईद खुदरी- रज़ियल्लाहु अन्हु- कहते हैं कि अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) कहा करते थेः जब जनाज़ा (लोगों के सामने) रखा जाता है और लोग उसे अपने कंधों पर उठा लेते हैं तो जनाज़ा यदि नेक आदमी का होता है तो कहता हैः मुझे जल्दी ले चलो, मुझे जल्दी ले चलो। और अगर बुरे आदमी का होता है तो कहता हैः हाय इसका विनाश, तुम इसे कहाँ ले जा रहे हो? उसकी यह आवाज़ इनसान के सिवा हर चीज़ सुनती है और अगर इनसान सुन ले तो बेहोश हो जाए।
-

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग
अनुवादों को प्रदर्शित करें