عن أبي هريرة -رضي الله عنه- أن رسول الله -صلى الله عليه وسلم- قال: «إنَّ أدنى مَقْعَدِ أحدِكم من الجنة أن يقول له: تَمَنَّ، فيتمنَّى ويتمنَّى فيقول له: هل تمنَّيتَ؟ فيقول: نعم، فيقول له: فإن لك ما تمنَّيتَ ومثله معه».
[صحيح.] - [رواه مسلم.]
المزيــد ...

अबू हुरैरा -रज़ियल्लाहु अन्हु- से रिवायत है कि अल्लाह के रसूल -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- ने फ़रमाया : “तुममें से जो सबसे कम दर्जे का जन्नती होगा (वो भी ऐसा होगा कि अल्लाह तआला) उससे कहेगा : (जो चाहो) तमन्ना करो। तो वह बहुत सारी चीज़ों की तमन्ना करेगा। फिर अल्लाह तआला उससे कहेगा : क्या तुमने तमन्ना कर ली? वह कहेगा : हाँ। तब अल्लाह तआला उससे फ़रमाएगा : तुम्हारे लिए वो सारी चीज़ें हैं, जिनकी तुमने तमन्ना की है और उनके साथ उनकी जैसी और भी चीज़ें हैं।”
सह़ीह़ - इसे मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग वियतनामी सिंहली होसा
अनुवादों को प्रदर्शित करें