عن عبد الله بن عمر -رضي الله عنهما- قال: «لعن النبي -صلى الله عليه وسلم- الوَاصِلَةَ والمُسْتَوْصِلَةَ، والوَاشِمَةَ والمُسْتَوشِمَةَ».
[صحيح.] - [متفق عليه.]
المزيــد ...

अब्दुल्लाह बिन उमर (रज़ियल्लाहु अंहुमा) कहते हैं कि अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने कृत्रिम बाल जोड़ने तथा जुड़वाने और गोदने तथा गुदवाने वाली पर लानत भेजी है।
सह़ीह़ - इसे बुख़ारी एवं मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

यह हदीस शोभा एवं सुंदरता के लिए स्त्री के अपने बाल से अतिरिक्त बाल जोड़ने तथा इसी तरह गोदने के हराम होने का प्रमाण है। क्योंकि यह दोनों कार्य महा पाप में शामिल हैं। क्योंकि इनके अंदर धोखा भी है और यहूदियों से मुशाबहत भी। इसी तरह गोदने में अल्लाह की सृष्टि में परिवर्तन करने का पक्ष भी शामिल है। बाल जोड़ने का काम सबसे पहले यहूदियों ने किया था। अतः इन कामों को करने वाले और कराने वाले दोनों लानत में शामिल होंगे।

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी चीनी फ़ारसी कुर्दिश पुर्तगाली
अनुवादों को प्रदर्शित करें
Donate