عن أنس -رضي الله عنه- مرفوعاً: «من خَرج في طلب العلم فهو في سَبِيلِ الله حتى يرجع».
[حسن.] - [رواه الترمذي.]
المزيــد ...

अनस- रज़ियल्लाहु अन्हु- का वर्णन है कि अल्लाह के नबी (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने फ़रमायाः जो ज्ञान हासिल करने के लिए निकला, वह वापस आने तक अल्लाह के मार्ग में है।
ह़सन - इसे तिर्मिज़ी ने रिवायत किया है।

व्याख्या

हदीस का अर्थ यह है कि जो व्यक्ति अपने घर या नगर से धार्मिक ज्ञान प्राप्त करने के लिए निकला, वह वापस आने तक अल्लाह के मार्ग में जिहाद के लिए निकले हुए व्यक्ति के समान है। क्योंकि वह धर्म के पुनरोद्धार, शैतान को नाकाम करने और नफ़्स को थकाने के मामले में जिहाद करने वाले ही की तरह है।

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग वियतनामी उइग़ुर कुर्दिश होसा पुर्तगाली मलयालम तिलगू सवाहिली
अनुवादों को प्रदर्शित करें
1: ज्ञान प्राप्त करना भी अल्लाह के मार्ग में जिहाद करना है।
2: ज्ञान प्राप्त करने वाले को युद्ध के मैदानों में जिहाद करने वाले के समान प्रतिफल मिलेगा, क्योंकि दोनों ऐसे कार्य करते हैं, जो अल्लाह की शरीयत को शक्ति प्रदान करते हैं और उससे उन चीज़ों को दूर करते हैं, जो उसका अंश नहीं हैं।
3: इससे मालूम होता है कि ज्ञान प्राप्त करने के लिए निकलने वाले को, घर वापस आने तक, जाने और आने के क्रम में चलने की भी नेकी मिलेगी।