عن حُميد بن عبد الرحمن: أنه سمع معاوية -رضي الله عنه- عام حَجَّ على المِنْبَر، وتناول قُصَّة من شَعْرٍ كانت في يَدِ حَرَسِيٍّ، فقال: يا أهل المدينة أين عُلَمَاؤُكُمْ؟! سمعت النبي -صلى الله عليه وسلم- يَنْهَى عن مثل هذه، ويقول: «إنما هَلَكَت بَنُو إسرائيل حين اتَّخَذَهَا نساؤُهُم».
[صحيح.] - [متفق عليه.]
المزيــد ...

हुमैद बिन अब्दुर्रहमान कहते हैं कि उन्होंने मुआविया (रज़ियल्लाहु अनहु) को हज के साल मिंबर पर फ़रमाते हुए सुना, उस समय उन्होंने बालों का एक गुच्छा लिया जो एक अंगरक्षक के हाथ में था और फ़रमाया: ऐ मदीना वासियो! तुम्हारे उलेमा कहाँ चले गए हैं? मैंने अल्लाह के नबी (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) को इससे रोकते हुए और फ़रमाते हुए सुना है: इस्राईल की संतानों का विनाश हुआ, जब उनकी महिलाओं ने इसे अपना लिया।
सह़ीह़ - इसे बुख़ारी एवं मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग
अनुवादों को प्रदर्शित करें