عن جابر -رضي الله عنه- قال: أُتِيَ بأبي قُحَافَة والد أبي بكر الصديق -رضي الله عنهما-، يوم فتح مكة ورأسه ولحيته كَالثَّغَامَةِ بياضًا. فقال رسول الله -صلى الله عليه وسلم-: «غَيِّرُوا هذا واجْتَنِبوا السَّواد».
[صحيح.] - [رواه مسلم.]
المزيــد ...

जाबिर (रज़ियल्ल्लाहु अनहु) कहते हैं कि अबू बक्र (रज़ियल्लाहु अनहु) के पिता अबू क़ुहाफ़ा (रज़ियल्लाहु अनहु) को मक्का विजय के दिन लाया गया, इस हाल में कि उनके सिर और दाढ़ी के बाल औसज नामी पौधे की तरह सफ़ेद हो चुके थे। इसपर अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने फ़रमाया: इसे बदल दो और काले ख़िज़ाब से बचो।
सह़ीह़ - इसे मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग सिंहली उइग़ुर
अनुवादों को प्रदर्शित करें