عن المقداد -رضي الله عنه-:أن رجلا جعل يمدح عثمان -رضي الله عنه- فعَمِدَ المقداد، فجَثَا على ركبتيه، فجعل يَحْثُو في وجهه الحَصْبَاءَ. فقال له عثمان: ما شأنك؟ فقال: إن رسول الله -صلى الله عليه وسلم- قال: «إذا رأيتم المَدَّاحِينَ، فاحْثُوا في وجوههم التراب».
[صحيح.] - [رواه مسلم.]
المزيــد ...

मिक़दाद (रज़ियल्लाहु अंहु) कहते हैं कि एक व्यक्ति उसमान (रज़ियल्लाहु अंहु) की प्रशंसा करने लगा, तो मिक़दाद अपने घुटने के बल बैठ गए तथा अपनी मुट्ठी में कंकड़ उठाकर उनके मुख पर फेंकने लगे। यह देख उसमान (रज़ियल्लाहु अंहु) ने कहाः यह तुम क्या कर रहे हो? उन्होंने उत्तर दियाः मैंने अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) को कहते हुए सुना हैः “जब तुम (किसी के सामने उसकी) प्रशंसा करने वालों को देखो, तो उनके मुँह पर मिट्टी डाल दो।”
सह़ीह़ - इसे मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग
अनुवादों को प्रदर्शित करें