عن عبد الله بن شَقيق، قال: قُلت لعائشة: هل كان النبي -صلى الله عليه وسلم- يُصلِّي الضُّحَى؟ قالت: «لا، إلا أن يَجِيء من مَغِيبِه».
[صحيح] - [رواه مسلم]
المزيــد ...

अब्दुल्लाह बिन शक़ीक़ से वर्णित है, वह कहते हैं कि मैंने आइशा (रज़ियल्लाहु अन्हा) से पूछा : “क्या नबी -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- चाश्त की नमाज़ पढ़ा करते थे? उन्होंने कहा : “नहीं, सिवाय तब जब आप किसी यात्रा से लौट कर आते।”
सह़ीह़ - इसे मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी चीनी फ़ारसी तगालोग
अनुवादों को प्रदर्शित करें
अधिक