عن أبي سعيد الخدري رضي الله عنه أن النبي صلى الله عليه وسلم قال: «أَوْتِرُوا قبل أن تُصبحِوُا».
[صحيح] - [رواه مسلم]
المزيــد ...

अबू सईद खुदरी -रज़ियल्लाहु अन्हु- का वर्णन है कि अल्लाह के रसूल -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने फ़रमाया : “सुबह होने से पहले वित्र की नमाज़ पढ़ लो।”
सह़ीह़ - इसे मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

वित्र, रात की नमाज़ का एक भाग है और इसी से रात की नमाज़ का समापन होता है, जैसे कि दिन की नमाज़ का समापन मग़्रिब से होता है। यह हदीस बाताती है कि वित्र का समय फ़ज्र-ए-सादिक़ से पहले तक रहता है।

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग कुर्दिश पुर्तगाली
अनुवादों को प्रदर्शित करें
अधिक