عن عائشة -رضي الله عنها- قالت: «ما أَغْبِطُ أحدًا بهَوْنٍ موتٍ بَعْدَ الذي رَأَيتُ مِنْ شدَّة مَوْت رسول الله -صلى الله عليه وسلم-».
[صحيح] - [رواه الترمذي]
المزيــد ...

आयशा- रज़ियल्लाहु अन्हा- से रिवायत है, उन्होंने फरमाया, मैं किसी की आसान मृत्यु पर रश्क नहीं करती थी जब से मैंने अल्लाह के रसूल- सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- पर मृत्यु की सख़्ती देखी।
सह़ीह़ - इसे तिर्मिज़ी ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी चीनी फ़ारसी कुर्दिश होसा
अनुवादों को प्रदर्शित करें
अधिक