عن جابر بن عبد الله -رضي الله عنهما- قال: كان النبي -صلى الله عليه وسلم- إذا توضأ أدار الماء على مِرْفَقَيْهِ.
[صحيح] - [رواه الدارقطني والبيهقي]
المزيــد ...

जाबिर बिन अब्दुल्लाह -अल्लाह उनसे प्रसन्न हो- कहते हैं कि नबी -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- जब वज़ू करते, तो अपनी दोनों कोहनियों पर पानी फेरते।
सह़ीह़ - इसे बैहक़ी ने रिवायत किया है।

व्याख्या

यह हदीस यह बताती है कि वज़ू के अनिवार्य कार्यों में से एक कार्य दोनों हाथों को कोहनियों तक धोना है। विशेष रूप से यह बताना कि दोनों कोहनियों पर पानी फेरते थे, इस बात को स्पष्ट करता है कि हाथ धोते समय उन्हें भी धोना है।

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग वियतनामी सिंहली कुर्दिश होसा पुर्तगाली
अनुवादों को प्रदर्शित करें
अधिक