عن أنس -رضي الله عنه-: أن أم الربيع بنت البراء وهي أم حارثة بن سراقة، أتت النبي -صلى الله عليه وسلم- فقالت: يا رسول الله، ألا تُحَدِّثُني عن حارثة -وكان قتل يوم بدر- فإن كان في الجنة صَبَرْتُ، وإن كان غير ذلك اجتهدت عليه في البكاء، فقال: «يا أم حارثة إنها جنان في الجنة، وإن ابنك أصاب الفردوس الأعلى».
[صحيح] - [رواه البخاري.]
المزيــد ...

अनस -रज़ियल्लाहु अन्हु- से रिवायत है कि उम्मे रुबैये बिंत बरा, जो हारिसा बिन सुराक़ा की माँ थीं, अल्लाह के रसूल -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- के पास आईं और बोलीं : ऐ अल्लाह के रसूल, क्या आप मुझे हारिसा के बारे में (जो बद्र के दिन मारे गए थे) नहीं बताएँगे? यदि वह जन्नत में है, तो सब्र कर लूँगी और यदि कहीं और है, तो उसपर खूब रोउँगी। आपने फ़रमाया : "ऐ हारिसा की माता, जन्नत में बहुत-सी श्रेणियाँ हैं और तुम्हारे बेटे ने उसकी सबसे ऊँची श्रेणी अल-फ़िरदौस प्राप्त कर ली है।"
सह़ीह़ - इसे बुख़ारी ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई रूसी बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग वियतनामी सिंहली
अनुवादों को प्रदर्शित करें