عن أبي هريرة -رضي الله عنه-، قال: قال رسول الله -صلى الله عليه وسلم-: «مَنعت العراق دِرْهَمِها وقِفِّيزها، ومنعت الشام مُدْيها ودينارها، ومنعت مصر إردَبَّها ودينارها، وعُدتم مِن حيث بَدَأتُم، وعُدتم من حيث بدأتم، وعُدتم من حيث بدأتم» شَهِد على ذلك لحم أبي هريرة ودمه.
[صحيح.] - [رواه مسلم.]
المزيــد ...

अबू हुरैरा -रज़ियल्लाहु अंहु- का वर्णन है, वह कहते हैं कि अल्लाह के रसूल -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- ने फ़रमायाः "इराक़ अपना दिर्हम और क़फ़ीज़ रोक लेगा, शाम अपना मुद और दीनार रोक लेगा और मिस्र अपना इरदब और दीनार रोक लेगा तथा तुम वहीं पहुँच जाओगे जहाँ से तुम्हारी शुरूआत हुई थी, तुम वहीं पहुँच जाओगे जहाँ से तुम्हारी शुरूआत हुई थी, तुम वहीं पहुँच जाओगे जहाँ से तुम्हारी शुरूआत हुई थी।" अबू हुरैरा के मांस और रक्त ने इसकी गवाही दी।
सह़ीह़ - इसे मुस्लिम ने रिवायत किया है।

व्याख्या

अनुवाद: अंग्रेज़ी फ्रेंच स्पेनिश तुर्की उर्दू इंडोनेशियाई बोस्नियाई बंगला चीनी फ़ारसी तगालोग कुर्दिश
अनुवादों को प्रदर्शित करें